किडनी का दर्द: कैसा होता है, कहाँ होता है, कारण, जाँच, इलाज इत्यादि

किडनी का दर्द उन गंभीर दर्दों में से एक है जो एक व्यक्ति अनुभव कर सकता है। यह किसी खास जगह या एक पक्ष की ओर में महसूस किया जाता है। किडनी के दर्द का सबसे महत्वपूर्ण और सामान्य कारण गुर्दे की पथरी है। पीठ दर्द के अन्य कारणों से इसे अलग करना महत्वपूर्ण है। किडनी में किसी रोग या क्षति के कारण होने वाले दर्द से जुड़े हर सवाल का जवाब और उपचार इस लेख में आपको मिल जाएगा।

कहाँ होता है किडनी का दर्द

हमारे शरीर में किडनी पीठ की ओर स्थित है और हमारे पसलियों (ribcage) के नीचे स्थित होती हैं। किडनी पीठ के हिस्से की ओर ज्यादा होती है। इसलिए अगर किडनी में कोई समस्या है तो इस बात का संकेत किडनी, दर्द के रूप में देती है।

कैसा होता है किडनी का दर्द

आपके दर्द के लक्षण आपको यह पता लगाने में मदद कर सकते हैं कि दर्द किस समस्या के कारण हो रहा है। यह दर्द हल्का भी हो सकता है और तेज भी, दर्द का तीव्रता समस्या की गंभीरता पर निर्भर करती है, और किडनी का दर्द मरोड़े के दर्द जैसा महसूस होता है। किडनी में संक्रमण या पथरी होती है तो दर्द तेज हो सकता है। यह अवस्था बदलने पर बदलता नहीं है और कभी-कभी बिना इलाज के खुद ही ठीक हो जाता है। इस दर्द के कारणों के आधार पर यह महिलाओं और पुरुषों दोनों के जननांगों को संकुचित कर सकता है। जिससे पेशाब में रक्त आना, बुखार होना, पेशाब में जलन होना और पेशाब में पस आना आदि जैसे लक्षण सामने आ सकते हैं।  इसके अलावा अगर इस दर्द के कारण का पता लगाकर उसका इलाज न किया जाए तो यह दर्द कुछ घंटों या कुछ दिनों के वापस आ सकता है।

किडनी के दर्द के मुख्य कारण

ऐसी समस्याओं में आपको ऊपरी या पीठ के मध्य भाग में दर्द हो सकता है।किडनी में होने वाले दर्द के कुछ मुख्य कारणों में शामिल समस्याएँ हैं-

  • किडनी या मूत्रपथ में पथरी होना
  • किडनी में कोई गंभीर संक्रमण जैसे Pyelonephritis
  • पॉलीसिस्टिक किडनी रोग (Polycystic kidney disease, PKD)
  • किडनी में खून के थक्के जमना
  • किडनी में खून का रिसाव होना
  • किडनी की रक्त वाहिकाओं में रुकावट आना
  • किडनी में कोई घाव या जखम हो जाना

किडनी का दर्द पीठ के दर्द से कैसे है अलग

किडनी की समस्या का दर्द औम तौर पर पसलियों के पिंजरे के नीचे और रीढ़ की हड्डी के दोनों ओर होता है। यह ऐसा महसूस होता है जैसे दर्द का केंद्र शरीर की गहराई में है। यह दर्द दोंने या किसी एक ओर महसूस हो सकता है , यह किडनी की समस्या पर निर्भर करता है कि समस्या एक किडनी नी में है या दोनों किडनी में। किडनी का दर्द आम तौर पर पीठ के किनारों से शुरु होकर, पेट में, जांघ और पेट के निचले हिस्से यानि जननांग में फैल सकता है।

इसके अलावा पीठ का दर्द आम है, एक अध्ययन के अनुसार लगभग 80 प्रतिशत वयस्क  लोग अपने जीवन में किसी न किसी उम्र या पड़ाव पर पीठ के निचले हिस्से में दर्द का अनुभव करते हैं। पीठ के दर्द का मुख्य कारण मांसपेशियों, हड्डियों, या पीठ में नसों को प्रभावित करने वाली समस्याओं को माना जाता है। दर्द की गंभीरता समस्या पर निर्भर करती है।कई बार किडनी के दर्द और पीठ के दर्द में अंतर कर पाना मुश्किल हो जाता है, जिसके बाद विशेषज्ञ को अपने अनुभव और स्कैनिंग, रक्त और मूत्र परीक्षणों के माध्यम से दर्द के कारण का पता लगाने में मदद  मिलती है।

किडनी के दर्द के लिए कराई जाने वाली जाँचे

जिन समस्याओं या रोगों के कारण मरीज को किडनी के दर्द का सामना करना पड़ता है, उनकी पहचान के लिए कुछ परीक्षणों की जरूरत होती है। अक्सर किडनी का दर्द यूरिन में जलन (“burining urination”) और मूत्र में खून(“blood in urine”) के साथ दिखाई देता है।आपका विशेषज्ञ बीमारी को पहचानने के बाद उसके इलाज के लिए आपके लक्षणों के अनुसार कुछ जाँच कराने के लिए कह सकता है। क्या होती है किडनी की समस्याओं को पहचानने के लिए की जाने वाली जाँच और परीक्षण जानिए-

यूरिनलिसिस (urinalysis)-

यह एक सरल सा परीक्षण हा जिसके माध्यम से यह पता लगाया जाता है कि किडनी में संक्रमण तो नहीं है।

सीरम क्रिएटिनिन,रक्त यूरिया नाइट्रोजन टेस्ट (Serum creatinine, BUN test)-

आम तौर पर गंभीर किडनी के दर्द में भी क्रिएटिनिन सामान्य हो सकता है। अगर रक्त क्रिएटिनिन का स्तर बढ़ जाता है तो यह किडनी में किसी गंभीर संक्रमण की ओर इशारा करता है। रक्त यूरिया नाइट्रोजन (BUN) टेस्ट, रक्त में बेकार उत्पादों और उनकी मात्रा की जाँच करता है। BUN परीक्षण रक्त में नाइट्रोजन की मात्रा को मापते हैं। यूरिया नाइट्रोजन प्रोटीन का ही एक भाग होता है।

युरिन कल्चर परीक्षण-

यह परीक्षण आम तौर पर मूत्रप्रणाली के संक्रमण के कारक यानि बैक्टीरिया को पचानने के लिए किया जाता है।

USG- KUB या CT-KUB स्कैन-

शरीरमेंकिडनी की उपस्थिति को देखने के लिए पेट और KUB (Kidney, uterus, and Bladder) अल्ट्रासाउंड स्कैन किया जाता है। यदि आपके विशेषज्ञ को अन्य जानकारी को जानने के लिए सीटी स्कैन / एक्स-रे की जरूरत होती है तो।

किडनी के दर्द अंतर्निहित कारण का इलाज

किडनी के दर्द का इलाज इस बात पर निर्भर करता है कि इस दर्द का कारण क्या है। इन कारणों का पता लगाने के लिए विशेषज्ञ इस कारण के पता लगने के बाद उचित इलाज दे सकता है जैसे-

  • पथरी के इलाज के लिए दर्द निवारण के लिएदर्द निवारक दवाएँ (NAISDs), और संक्रमण को रोकने के लिए एंटिबायोटिक दवाएँ दी जाती हैं। इसके अवाला पथरी के स्थायी इलाज के लिए सर्जरी आदि की सलाह भी दी जा सकती है।
  • किडनी में pyelonephritis जैसे संक्रमणों का इलाज एंटिबॉयोटिक दवाओं से ठीक किया जा सकता है।

Leave a Comment